Bootstrap Example

5 अप्रैल को रात में दीपक एवं मोमबत्ती जलाने से पहले बरते ये सावधानी नहीं तो हो सकता है हादसा

@Anuj Sharma

वैश्विक महामारी घोषित हो चुके कोरोना वायरस के संकट को भारत में फैलने से रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 24 मार्च को 21 दिनों के लॉक डाउन की घोषणा की गई थी जिसके 11 दिन अभी बीत चुके हैं और देश की जनता द्वारा देश भर में कहीं जोर जबरदस्ती द्वारा तो कहीं प्यार से इस लॉक डाउन का पालन जिला प्रशासन द्वारा कराया जा रहा है। 3 अप्रैल को सुबह 9:00 बजे एक वीडियो संदेश द्वारा प्रधानमंत्री द्वारा एक बार फिर देश को संबोधित किया गया और देश की जनता से दुनिया भर में एक सामाजिक एकता का संदेश देने के लिए और इस विपरीत स्थिति में भी आपसी तालमेल का परिचय देने के लिए 5 अप्रैल को रात के 9:00 बजे 9 मिनट तक अपने घर के मुख्य दरवाजे या बालकनी पर दीपक, मोमबत्ती, टोर्च एवं फोन की फ्लैश लाइट जलाकर सामाजिक एकता का परिचय देने की अपील की गई है। जिसके लिए देशभर में लोग काफी उत्साहित भी नजर आ रहे हैं और लोगों द्वारा बाजारों में दीपक एवं मोमबत्ती की खरीदारी भी की जा रही है लेकिन प्रधानमंत्री की इस अपील की पालना करने से पहले कुछ सावधानी बरतने की आवश्यकता है क्योंकि यदि इन सावधानियों को ध्यान में नहीं रखा गया तो देश भर से कहीं दुर्घटनाओं की खबर सामने आने की आशंका बनी हुई है। सावधानी यह बरतनी है कि दिए जलाने से पहले अपने हाथ सैनिटाइजर से ना धोएं और यदि आपने और आपके परिवार के किसी भी सदस्य ने सैनिटाइजर से हाथ धोए हुए हैं तो उस समय दीपक या मोमबत्ती ना जलाएं क्योंकि सैनिटाइजर में 70 फ़ीसदी एल्कोहल मिला हुआ होता है जो ज्वलनशील होता है जिसमें आग लगने का खतरा बना रहता है और यदि आप अपने हाथ सैनिटाइज कर दीए जलाएंगे तो आपके साथ एक बड़ी दुर्घटना हो सकती है इसलिए आवश्यकता है कि आप यह सावधानी बरते। इसके साथ ही जब पिछली बार जब प्रधानमंत्री द्वारा ताली एवं थाली बजाकर देश के लिए कार्य कर रहे राष्ट्रीय रक्षकों के हौसला अफजाई की अपील की गई थी तब जनता द्वारा बड़े समूह में एकत्रित होकर सोशल डिस्टेंसिंग का मजाक बना कर इस अपील की पालना की गई थी जो प्रधानमंत्री के अन्य निर्देशों की अवहेलना करना था। इसलिए इस बार आप सबको सावधानी यह रखनी है कि दीपक जलाते समय सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरी तरह से ख्याल रखें ताकि 21 दिन के जो इस लॉक डाउन का उद्देश्य है वह पूर्ण रूप से सफल हो सके।


Related News



Insert title here