Bootstrap Example

इंसानों के साथ-साथ पशुओं और बंदरों की सेवा में जुटे हैं भगवान श्री लक्ष्मीनारायण धाम के राजेंद्र नारंग

@Mahesh Kumar

कोरोना महामारी में गरीबों व जरूरतमंदों की सेवा के लिए आगे आएं सभी संस्थाएं व आरडब्ल्यूए : रजत चौधरी दाबाद,  कोरोना संक्रमण से काम-धंधे बंद हैं। मजदूरों के सामने खाने-पीने की दिक्कत है। इसे दूर करने के लिए रेडक्रास सोसायटी के साथ मिलकर धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं की टीम आगे आई है। इन्ही सामाजिक संस्थाओं में फरीदाबाद आरडब्ल्यूए के संस्थापक सूरजमल पत्रकार व प्रधान रजत चौधरी तथा भगवान श्री लक्ष्मीनारायण धाम के राजेंद्र नारंग 1000 लोगों के लिए खाना तैयाकर कर जरूरतमंद और गरीब लोगों तक पहुंचा रहे हैं। आरडब्ल्यूए सैक्टर-18 के संस्थापक सूरजमल व प्रधान रजत चौधरी व भगवान श्री लक्ष्मीनारायण धाम के राजेंद्र नारंग ने बताया कि वह अपने प्रयासों से खाना बनवा रहे हैं और अपने संसाधनों से ही इसका वितरण कर रहे हैं जिसमें सरकार द्वारा दिए गए कोरोना से बचाव के मानको का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। आरडब्ल्यूए के प्रधान रजत चौधरी ने कहा कि आज कोरोना वायरस ने पूरे विश्व में महामारी का रूप ले लिया है, लेकिन भारत अभी भी बेहतर स्थिति में है इसलिए हम सभी को इस बीमारी को यहां से चलता करने के लिए इसकी संक्रमित चेन को तोडऩा होगा और यह तभी संभव होगा, जब हम सब अपने परिवारों के साथ ज्यादा से ज्यादा समय घर पर रहेंगे और सोशल डिस्टेंशिंग का पालना करेंगे। उन्होंने फरीदाबाद जिले की धार्मिक एवं सामाजिक संस्थाओं से आह्वान किया कि वह इस संकट की घड़ी में जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए ज्यादा से ज्यादा योगदान दें और देश को इस संकट से उभारने का काम करें। उन्होंने कहा कि यह एक बहुत बड़ी लडाई है और हम सबको प्रशासन का साथ देना चाहिए। उन्होने कहा सरकार और प्रशासन ने जो हेल्पलाइन नंबर दे रखे हैं उस पर अगर किसी को कोई परेशानी है तो सूचित करे। प्रशासन तुरंत उसका निदान करता है। वहीं बेजुबान पशु पक्षियों व बंदरों के लिए भी भगवान श्री लक्ष्मीनारायण धाम के राजेंद्र नारंग अपने प्रयासों से प्रतिदिन केले व चने वितरित कर उनका पेट भरने में लगे हैं। राजेंद्र नारंग प्रतिदिनि 50 दर्जन से अधिक केले व चने सूरजकुंड की पहाडियों में रहने वाले बंदरों व अन्य पशुओं को खिला कर उनका पेट भर रहे हैं। राजेंद्र नारंग ने कहा कि इंसान तो बोलकर अपनी पीड़ा बता सकता है लेकिन बेजुबान जानवर अपनी पीडा को बता नहीं सकता इसलिए वह रोजाना बंदरों व अन्य जानवरों को भोजन मुहैया करवा रहे हैं। इस अवसर पर खाना वितरित करने वालों में राहुल चौधरी, महावीर बिश्रोई, कार्तिक अग्रवाल, शिव गुप्ता, तिलकराज नागपाल, जितेंद्र कुमार अरोडा, हिमांशु कालरा, पवन कुमार वर्मा, जयपाल, शुभम, गुड्डू, सतीश, सोनू पवन, रॉकी मेहता, लवली डूडेजा, राजीव बांभी खाना वितरित करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।


Related News



Insert title here