Bootstrap Example

जिन मरीजों की कुछ पुरानी बीमारियों के लिए कोई दवा चल रही है तो दवा रुकने से कुछ बीमारी बढ़ ना जाए , इसलिए उठाया गया ये कदम .

@Vishal Rajput

सिविल सर्जन के साथ एक मीटिंग में आईएमए के पदाधिकारी डॉ पुनीता हसीजा , डॉ सुरेश अरोड़ा ,डाक्टर नरेश जिंदल, डॉक्टर प्रदीप गर्ग,डॉ सुनील पाराशर,डॉ राकेश कपूर,द्वारा एक निर्णय लिया, जिसमें यह फैसला लिया गया कि फरीदाबाद में जितने भी गरीब तबके के लोग हैं जोकि पैसे की कमी की वजह से अस्पतालों में नहीं जा पा रहे हैं उन लोगों को आई एम ए के डॉक्टर मुफ्त में सलाह देंगे व जितनी भी हो सके दवाई वगैरह देंगे। ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि जिन मरीजों की कुछ पुरानी बीमारियों के लिए कोई दवा चल रही है तो दवा रुकने से कुछ बीमारी बढ़ ना जाए और जान को खतरा ना हो। सिविल सर्जन को आईएमए द्वारा अलग अलग इलाकों के डॉक्टरों की एक लिस्ट दी जाएगी जिसमें वहां के मरीज उन डॉक्टरों को जाकर मिल सकते हैं ,और अपना चेकअप करा सकते हैं और उनसे दवाई वगैरा ले सकते हैं ।यह व्यवस्था उन गरीब मरीजों के लिए की गई है जिन लोगों के पास आजकल पैसे के संसाधन नहीं है । आई एम ए द्वारा एक एंबुलेंस का भी इंतजाम किया गया है ,जिसमे विभिन्न प्रकार की दवाइयां रखी गई है ,जो गरीब मरीजों में बांटी जा रही है जो कि अस्पतालों में जाने के लिए असमर्थ है ।


Related News



Insert title here