Bootstrap Example

@Vishal Rajput

भूख से व्याकुल बन्दर को देख बता सकते है आप की क्या सोच रहा है । फरीदाबाद : आज सम्पूर्ण लॉक डाउन का सातवां दिन रहा , हर व्यक्ति को इस दिन का इंतजार है, कब देश में सभी चीज़े पहले की तरह सामान्य हो । लेकिन लोगों के अलावा कुछ जीव जंतु और भी है जिनके दिमाग में ये ख्याल तो ज़रूर आता होगा कि आखिर ये शहर में हो क्या रहा है। हम बात कर रहे लावारिस पशु पक्षियों की को ना जाने कितने दिनों से भूखे है। लेकिन इनकी सेवा के लिए भी लोग आगे आ रहे है , इनकी भूख प्यास भी मिटाई जा रही है । लेकिन ये बेजुबान जानवर इस बात से परे है कि खाना कहां बट रहा है कहा उन्हें खाने को मिलेगा , क्योंकि ये जानवर होटलों और मार्केट में रह कर अपने खाने की तलाश करते थे । आपने दुख और दर्द से जूझते इंसान तो देखे होंगे लेकिन इस बेजुबान बंदर पर भी नज़र डाल ले ।दो शब्द इनकी दुआ के लिए भी कह दें । इस तस्वीर में ये बंदर बेहद उदास नज़र आ रहा है ऐसा लग रहा है ये सोच रहा की आखिर इस शहर को हुए क्या सब कहा है । लेकिन इसे समझने वाले कोई नहीं । हमारे जिस दर्शक ने ये तस्वीर दी वो भी इस बंदर के लिए बेहद चिंतित थी , इसलिए हमने भी उनकी कहीं बात का मान रख उनका दुख आप तक बांटा। कोरोना के आगे तो नेताओं के घुटने टिक गए। ऐसे में आमजन की आवश्यकता का ख्याल रखने के लिए कई सामाजिक संस्थाएं आगे आईं और मदद का हाथ भी बढ़ा रही है। मगर इन लावारिस बेजुबानों के लिए सुविधाएं कम है । अभी भी कई पशु पक्षी भूखे है और परेशान है इसलिए हमारी टीम द्वारा आपसे अनुरोध है कि यदि आपको कोई लावारिस पशु दिखाई दे तो आपसे जितना बने उतना उसके लिए करें।


Related News



Insert title here