Bootstrap Example

लोगो की मदद कही ले डूबे आपको जरा संभल कर

@Deepika gaur

कोरोना का कहर इस कदर बरपा की लोग त्राहि त्राहि मचा गए 21 दिन के देशव्यापी लॉक डाउन में दिहाड़ी मजदूर और गरीब तबके की नींद उड़ा के रख दी हैं लोगो को खाने और रहने की  समस्या  उत्पन्न हो गईं और लोग अपना बोरी बिस्तर लेकर अपने पैतृक गांव की और पलायान कर गए , उनको लगा कि यदि घर से बाहर रहे तो भूख से मर जांयेंगे अपने घर पर कम से कम रोटी चटनी खा कर जिंदा रहे सकते है लेकिन जैसे ही यह बात  जब सामाजिक संगठनों को पता चली तो मदद के लिये सैकड़ो हाथ आगे  बढ़कर आने लगे औए हर कोई अपनी क्षमता के अनुसार मदद करने लगा । पर सोचने वाली बात यह हैं कि कुछ इसका नाजायज फायदा उठा रहे है जब भी कोई  इन गरीबो की मदद करता हैं तो यह सभी इस तरह टूट कर पड़ते है और इस बीमारी को नौता दे रहे है यह सभी झुंड के झुंड बाहर निकलते हैं । यह जो लोग  बाट रहे है वो लगातार इनके संपर्क में आ रहे है और इन लोगो के संक्रमित होने के खतरे ज्यादा बढ़ गए है तो कहीं ऐसा ना होकि मदद के लिएबढ़ाए हाथो को ही ना डूबे


Related News



Insert title here