Bootstrap Example

करीब 31 लाख का फंड जारी होने के बाद भी नेहरू कॉलेज की जर्जर बिल्डिंग की हालत में नहीं किया जा रहा सुधार कार्य

@Anuj Sharma

फरीदाबाद शहर का सबसे पुराना एवं बड़ा कॉलेज पंडित जवाहर लाल नेहरू कॉलेज अब जर्जर स्थित है में है कॉलेज की मुख्य बिल्डिंग की हालत जर्जर हो चुकी है जिसे 2016 में लोक निर्माण विभाग द्वारा जर्जर घोषित कर दिया गया था। बता दे की करीब 10 एकड़ में बना नेहरु कॉलेज शहर का सबसे बड़ा एवं पुराना कॉलेज है जिसमें करीब 10 हजार छात्र पढ़ते है। कॉलेज की मुख्य बिल्डिंग लगभग 50 वर्ष पुरानी है जिसकी हालात अभी जर्जर हो चुकी है। कॉलेज में नई इमारत बनाने की बात भी कही बार कहीं जाती सा रही है लेकिन यदि नई इमारत का निर्माण शुरू होगा तो उसे बनने में करीब 2 वर्ष का लंबा समय लगेगा। लेकिन तब तक कॉलेज में पढ़ रहे छात्रों की कक्षाओं को सुचारू रूप से चालू रखने के लिए जर्जर इमारतों के सुधार कार्य के लिए 30 लाख 93 हजार रूपए की राशि जारी की गई थी। लेकिन अभी तक कॉलेज को जर्जर पड़ी इमारतों में किसी भी प्रकार का निर्माण कार्य शुरू होता हुआ नजर नहीं आ रहा है। कॉलेज की जर्जर बिल्डिंग को 2016 में ही लोक निर्माण विभाग द्वारा कंडम घोषित कर दिया गया था लेकिन अभी तक जर्जर इमारतों में कोई सुधार कार्य देखने को नहीं मिला है जिस कारण आए दिन इमारत से सीमेंट के टुकड़े नीचे गिरते रहते हैं। जिस प्रकार शहर के विकास के लिए किए जाने वाले प्रत्येक कार्य में प्रशासन की लापरवाही देखने को मिलती है उसका उदाहरण नेहरू कॉलेज की जर्जर हालात में भी देखने को मिल रहा है।


Related News



Insert title here