Bootstrap Example

पर्यावरण संरक्षण के लिए देश के कोने कोने में जागरूक करता एक युवा।

@Deepika gaur

ख़ुदी को कर बुलंद इतना कि हर तक़दीर से पहले
ख़ुदा बंदे से ख़ुद पूछे बता तेरी रज़ा क्या है
अल्लामा इक़बाल की लिखे गए यह अल्फ़ाज़ फरीदाबाद के रहने वाले 25 वर्षीय अरुण मित्तल पर बिल्कुल सही साबित हो रहे है। अरुण ने अपनी इच्छा शक्ति से दिखाया कि यूवा शक्ति ही राष्ट्र शक्ति हैं । आज पर्यावरण के लिये उठाया गया कदम आने वाली पीढ़ी के लिए कारगार साबित होगा । अरुण मित्तल ने मात्र 25 साल की आयु में पर्यावरण को बचाने के लिये हाथों में तिरंगा लिये निकल पड़े है।
अरुण ने यह यात्रा जम्मू कश्मीर से कन्याकुमारी तक यात्रा शुरू की ।
अरुण मित्तल देश के अनेक जगहों पर जाकर लोगो को पर्यावरण संरक्षण और नशे से दूर रहने के लिये लोगो को जागरूक कर रहे हैं । अरुण ने बताया कि रोहतक विश्व विधालय से मौके निकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद दिल्ली एन सी आर एनरिक इंडिया ट्रक प्राइवेट लिमिटेड में काम किया है । एक न्यूज पेपर को उन्होंने बताया की इस यात्रा को वो अपनी जमा पूंजी से कर रहे है। इस यात्रा के माध्यम से अरुण लोगो को पर्यावरण संरक्षण के लिये जागरूक कर रहे है।


Related News



Insert title here