Bootstrap Example

स्कूल, कॉलेज में कर दिये अवकाश घोषित ,पढाई पर लगाया पैसा चढ़ा सर्दियों ,दंगो और कोरोना की भेंट ।

@Deepika gaur

कोरोना वायरस के संक्रमण की बढ़त के डर से देश के कई प्रदेश में स्कूल , कॉलेज और शिक्षण संस्थानो को   31 मार्च तक बंद करने के आदेश जारी किए गए है गुरुवार को यह आदेश एजुकेशन डिपार्टमेंट की तरफ दिये गए थे। ताकि इस संक्रमित रोग को फैलने से बचाया जा सके और लोग स्वस्थ्य रहे सके । जैसे कि बच्चों का इम्युनिटी सिम्टम् काम होता है इसको देखते हुय स्कूलों को बंद करने का ऐलान किया गया है।
 दुर्भाग्यपूर्ण अभी तक कोरोना का कोई भी बेक्सिन उपलब्ध नही हो पाई है , तो लोगो मे इसको लेकर भय बैठा हुआ हैं।
पर क्या स्कूल बंद करने से इस बीमारी को रोका जा सकता है। 
 2019 के अंत और 2020 की शुरूआत में  अधिक सर्दी होने के कारण भी स्कूलों  को बंद किया गया था उसके बाद CAA ,NRC को लेकर जो  दंगे हुए उस कारण भी स्कूलों को बंद कर दिया गया । बार बार स्कूल को बंद करने से बच्चों की पढ़ाई का नुकसान तो हो ही रह है और वही जो बच्चो की शिक्षा पर जो अभिभावकों की मोटी रक़म स्कूलों में जमा हो रही हैं उसका भी नुकसान हो रहा हैं। पूरी ही साल स्कूल में छुट्टियां ही रही और एक तरीके से बिना मेहनत के पैसा स्कूल प्रबंधन की जेब मे और अध्यापको को मुफ्त का वेतन मिला है।
परन्तु सरकार के पास इसके अलावा कोई चारा नही है 


Related News



Insert title here