Bootstrap Example

2006 में कोर्ट के भीतर चली थी गोली 14 साल बाद दोषी वकीलों को 6.5 साल की सुनाई गई सजा।

@Anuj Sharma

31 मार्च 2006 में कैंटीन एवं पार्किंग को लेकर सेक्टर 12 न्यायिक परिसर में हुए झगड़े के चलते हुए गोलीकांड में एडवोकेट राकेश भड़ाना गंभीर रूप से घायल हो गए थे जिसपर आज जिला न्यायिक परिसर सेक्टर 12 में अतिरिक्त सत्र न्यायधीश राजेश गर्ग की अदालत में 4 वकीलों को दोषी पाया गया है जिनमे आरावाली का मुद्दा उठाने वाले शहर के प्रसिद्ध एडवोकेट एल एन पारसर एवं अन्य वकील ओपी शर्मा, गौरव शर्मा और कैलाश शामिल के नाम शामिल है। बता दे की मामले में कुल 24 लोगो के नाम शामिल थे जिनमे से बाकी लोगो को बरी कर दिया गया और दोषी पाए गए चारो वकीलों को आगामी 13 मार्च को 14 साल बाद सजा सुनाई जाएगी जिसके लिए चारो दोषियों को न्यायिक हिरासत में रखा गया है। 14 साल पहले 31 मार्च 2006 को न्यायिक परिसर सेक्टर 12 में हुए गोली कांड पर 7 तारीख को अतिरिक्त सत्र न्यायधीश राजेश गर्ग की अदालत में सुनवाई हुई थी जिसमें इस गोली कांड में शामिल 24 दोषियों में से 20 दोषियों को निर्दोष पाया गया था और बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान एवं आरावाली का मुद्दा उठाने वाले शहर के प्रसिद्ध एडवोकेट एल एन पारसर एवं अन्य वकील ओपी शर्मा, गौरव शर्मा और कैलाश को इस मामले में आईपीसी की धारा 307 के तहत दोषी करार दिया गया था और चारो आरोपियों को 5 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजते हुए 12 मार्च को इस मामले में चारो दोषी वकीलों को सजा सुनाने का ऐलान किया था। जिसके बाद 12 मार्च को जिला अदालत में 10:30 बजे से न्याधीश राजेश गर्ग की अदालत में मामले पर बहस हुई जिसमें न्याधीश द्वारा सभी गवाह एवं सबूतों पर गौर देते हुए 13 मार्च को दोषियों को सजा सुनाने का फैसला लेते हुए अदालत की कार्यवाही स्थगित किया गया था। इसी मामले में फैसला सुनाते हुए न्यायधीश राजेश गर्ग द्वारा मामले दोषी चारो वकीलों को 6.6 साल की सजा सुनाई गई और वकीलों पर 3 हजार रूपए का जुर्माना भी लगाया गया। जिस समय 2006 से अदालत में बकाया पड़े इस फैसले पर सजा सुनाई गई दोषियों के समर्थन में सैकड़ों की संख्या में वकीलों का जमावड़ा अदालत के बाहर था जिसके चलते किसी भी प्रकार की हिंसा को रोकने के लिए पुलिसबल भी तैनात किया गया जिसने न्यायिक परिसर में इक्कठा हुई भीड़ को नियंत्रित रखा। बता दे की 31 मार्च 2006 में कैंटीन एवं पार्किंग को लेकर सेक्टर 12 न्यायिक परिसर में हुए झगड़े के चलते हुए गोलीकांड में एडवोकेट राकेश भड़ाना गंभीर रूप से घायल हो गए थे जिसको लेकर इस मामले में दोषियों को आईपीसी की धारा 307 के तहत सजा सुनाई गई।


Related News



Insert title here