Bootstrap Example

होली के त्योहार के अवसर पर शहर के बाजारों में हुई कोरोना वायरस की एंट्री

@Anuj sharma

चीन के वुहान शहर से निकला कोरोना वायरस अबतक दुनिया भर के 25 से ज्यादा देशों में फैल चुका है और इस वायरस के चलते अब तक 2200 से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके वही चीन की अर्थव्यवस्था के साथ-साथ अन्य देशों के चीन के साथ होने वाले आयात निर्यात के व्यापार पर भी कोरोना वायरस का काफी असर देखने को मिल रहा है।
बता दे की औद्योगिक नगरी होने के कारण फरीदाबाद शहर का चाइना से व्यवसायिक तौर पर गहरा सम्बन्ध है और अक्सर होली दिवाली एवं अन्य त्योहारों के अवसरों पर चाइना से आए सजावट ओर त्योहारों से संबधित अन्य सामान की रौनक शहर के बाजारों में भी देखी जा सकती थी।
लेकिन होली के त्योहार के अवसर पर कोरोना वायरस की महामारी के चलते चाइना से भारत में होने वाले आयात निर्यात पर रोक लगी हुई है जिस कारण फरीदाबाद शहर के बाजार में चाइना से आने वाली पिचकारी एवं होली के अन्य सामानों की कमी साफ तौर पर देखी जा सकती है।
इस मुद्दे के चलते जब हमने शहर की एक नंबर मार्केट में होली पर इस्तेमाल किए जाने वाली पिचकारी एवं अन्य खिलौने के कारोबारी नितेश पाठक से बात की तो उसने बताया कि होली के शुरू होने से पहले ही खिलौने की मार्केट में इतनी डिमांड है कि उन्हें पूरा कर पाना मुश्किल हो रहा है। होली में इस्तेमाल होने वाला लगभग सारा सामान चीन से आयात किया जाता था जिसपर फिलहाल रोक लगी हुई है जिस कारण पिछले साल के बचे हुए खिलौने से ही काम चलाना पड़ था है। चीन से आयात पर लगी रोक के कारण पिछली साल का बचे हुआ सामान वह लोग सामान्य से अधिक कीमत पर खरीदने को तैयार है।
इसी के चलते बाजार के कुछ कारोबारियों में सरकार के खिलाफ गुस्सा भी दिखा जिनका कहना था कि सरकार स्वयं मैन्युफैक्चर करने की बजाय आयात पर ज्यादा आश्रित हो गई है जिस कारण बाजार में इस प्रकार की स्थिति बनी हुई है।


Related News



Insert title here