Bootstrap Example

हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता ने शनिवार को 34वें अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेले का दौरा किया।

@Mahesh Kumar

हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता ने शनिवार को 34वें अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेले का दौरा किया। इस दौरान उनके पारिवारिक सदस्य भी साथ मौजूद थे। सुबह करीब साढे ग्यारह बजे श्री गुप्ता मेला स्थल पर पहुंचे। यहां हरियाणा टूरिज्म के प्रबंध निदेशक विकास यादव व अन्य अधिकारियों ने उनका स्वागत किया। इस दौरान श्री गुप्ता ने कहा कि सूरजकुंड मेला देश व दुनिया के शिल्पियों व कलाकारों को एक बेहतरीन मंच उपलब्ध करवा रहा है। उन्होंने कहा कि यह मेला दुनियाभर में प्रसिद्ध है और नई पीढ़ी को यहां आकर अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की जानकारी मिलती है। इस दौरान श्री गुप्ता ने मेले में विभिन्न स्टॉलों पर जाकर खरीदारी भी की। उन्होंने मेले की मुख्य चौपाल पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आनंद भी लिया। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्विद्यालय के तत्वावधान में 34 वें अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेले में विषय मेरा भारत, स्वस्थ्य भारत, नशामुक्त भारत विषय पर आधारित आध्यात्मिक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। युवा वर्ग का नशे से बचाना व जागरूक करन के उद्देश्य से संस्थान विगत 8वर्षों से अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेले में सेवाएं दे रहे हैं। ब्रह्मकुमारी प्रिती बहन ने बताया कि संस्थान द्वारा मेले में युवाओं को सामाजिक बुराइयों से दूर रहने व राष्ट्रहित में योगदान में अपनी ऊर्जा लगाने के लिए अनूठी पहल की गई, जिसके तहत 500 मीटर लंबा ए लैटर टू गौड लिखवाया गया, जिसमे युवाओं ने उत्साह से भाग लिया, इसके उपरांत युवाओं को ब्लेसिंग कार्ड गिफ्ट किए गए। उन्होंने कहा कि युवा वर्ग जोकि नशे की ओर बढ़ रहा है उसको रोकना अति आवश्यक है। मनुष्य के जीवन में बढ़ रहे संघर्ष और तनाव के कारण नशे की लत लग जाती है, इसलिए युवाओं को जागरूक करने की जरूरत है। प्रदर्शनी के माध्यम से संस्थान द्वारा युवाओं को टेंशन को दूर करने का उपाय एडिक्शन नहीं मेडिटेशन है। इसके अलावा संस्थान द्वारा नशामुक्ति के लिए मुफ्त में दवाइयां दी जा रही है, जिससे बहुत आश्चर्यजनक परिणाम आए। उन्होंने बताया कि संस्थान ने सूरजकुंड मेले के दौरान युवाओं को भारतय प्राचीन सभ्यता संस्कारों से रूबरू करवाने तथा उनका महत्व समझाने के लिए वेलेंटाइन डे का दिन एक अनोखे तरीके से मनाया, जिसमें युवाओं को परमात्मा से प्यार करने की तथा महिलाओं एवं बुजुर्गों से सम्मानजनक व्यवहार करने की अपील की गई। इसी प्रकार मेले में संस्थान द्वारा एक अनोखा रिकॉर्ड भी बनाया गया, जिसमें हजारों लोगों से 500 मीटर लंबा ए लेटर टू गौड लिखवाया गया। लोगों ने खासतौर पर युवा वर्ग ने इसमें बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया, जिसके लिए लोगों को परमात्मा की तरफ से एक ब्लेसिंग कार्ड गिफ्ट किया गया। इस अवसर पर ब्रह्मकुमारी रंजना, सुशीला, मुक्ति, शिखा, डा. राम कुमार, मदनलाल मौजूद रहे। फोटो परिचय--फरीदाबाद-08,09,10-। 000 दुनिया भर में धुम मचाने को तैयार हुआ बंचारी लोक नृत्य का नया फार्मेट : राज नेहरू - विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय दुधौला ने बंचारी के 800 लोक गीतों का संग्रह कर तैयार किया बंचारी लोक ग्रंथ, एक साल का कोर्स भी तैयार - सूरजकुंड मेले में युगांडा के ड्रम के साथ जब बंचारी का नगाड़ा बजा तो झूम उठे पर्यटक, अब विदेशों तक ले जाने की तैयारी - वीसी बोले प्राचीन कला को मार्केट अनुरूप बनाकर उसे जीवन जीने की कला से जोड़ रहा है विश्वविद्यालय - यूनिवर्सिटी में कौशल स्कूल करने का पहला प्रयोग, आठवीं के बाद स्कूल छोडऩे वाले बच्चों के लिए कौशल शिक्षा के नए कोर्स तैयार श्री विश्वकर्मा कौशल विकास विश्वविद्यालय दूधौला के कुलपति राज नेहरू ने कहा कि एक नगाड़े और झांझ के साथ लुप्तप्राय होती जा रही बंचारी की लोक कला को सहेजने के लिए हमने एक नया प्रयास किया है। बंचारी गांव जाकर हमने वहां के 800 लोक गीतों का एक लोक ग्रंथ तैयार किया है। इन लोक गीतों से विश्वविद्यालय में एक वर्ष का कोर्स तैयार किया और अब 50 बच्चे इस कोर्स को पूरा कर बंचारी के इस संगीत से पूरी दुनिया में धूम मचाने को तैयार हैं। श्री नेहरू शनिवार को सूरजकुंड मेला परिसर स्थित मीडिया सेंटर में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। श्री राज नेहरू ने कहा कि हम संगीत के जरिए देशों की सीमाएं तोड़ रहे हैं और दिलों को जोडऩे का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण के समय से चली आ रही इस बंचारी लोक कला पर अभी तक किसी ने ध्यान नहीं दिया था। हमने एक वर्ष का जो कोर्स तैयार किया, उसमें बंचारी के इन कलाकारों को शास्त्रीय संगीत, आधुनिक वाद्य यंत्रों और संगीत से जुड़़ी कई अन्य बारीकियां सिखाई।


Related News



Insert title here