Bootstrap Example

पटेल नगर की झुग्गियों में रहने वाले 25 से 30 हजार लोगों के सर से छीन सकती है छत। सिंचाई विभाग ने तोड़ फोड़ करने का नोटिस किया जारी।

@Anuj Sharma

सिंचाई विभाग के दिशा निर्देश अनुसार सेक्टर 4 पटेल नगर में गुरुग्राम नहर के किनारे बनी झुग्गियों को तोड़ने की योजना तैयार की गई है जिसके चलते पटेल नगर के लोगो को नोटिस जारी कर यह सूचित किया गया है कि जिन लोगो ने गुरुग्राम नहर के किनारे सिंचाई विभाग हरियाणा की जमीन पर कब्जा कर अवैध मकान बनाए हुए है वे 17 फरवरी 2020 तक वहां से अपना सामान स्वयं हटा ले यदि दी गई अवधी के बाद भी लोगो द्वारा सामान नहीं हटाया गया तो तोडफ़ोड़ में होने वाले नुकसान के जिम्मेदार वे स्वयं होगे। जबकि स्थानीय लोगो का कहना है कि वे उस स्थान पर 30 साल से भी अधिक समय से रह रहे है और उसी स्थान के पते के आधार पर उनके सभी सरकारी कागजात एवं राशन कार्ड बनाए गए है। जबतक प्रशासन या सरकार द्वारा उनके लिए कहीं और रहने कि व्यवस्था नहीं की जाती तब तक उनके द्वारा ये जगह खाली नहीं की जाएगी और यदि प्रशासन द्वारा किसी भी प्रकार की जोर जबरदस्ती की गई तो हम लोग स्वयं घरों में बंद हो जायेगे ताकि जिस घर में उनका बचपन बीता उसी घर में उनकी मृत्यु भी हो। इस पूरी मामले को देखते हुए सवाल सरकार और नेताओ की ओछी राजनीति पर भी उठाए जाने चाहिए, जब प्रशासन को पता था कि वह जमीन सरकारी है तो उस जमीन पर रह रहे लोगों को बिजली , पानी एवं पक्की सड़कों जैसी सरकारी सुविधाएं कई उपलब्ध कराई गई और क्यों सरकारी जमीन पर रह रहे लोगों के उसी स्थानीय पते के आधार पर सरकारी कागजात बनवाए गए। बता दे की पटेल नगर के इलाके में 4 हजार से भी अधिक झुग्गियां है जिनमे करीब 20 से 30 हजार लोग रहते है जिनमे बुजुर्ग, महिलाएं, पुरुष एवं स्कूल कॉलेज में पढ़ने वाले बच्चे भी शामिल है जिनमे से स्कूल में पर रहे छात्रों की बोर्ड परीक्षा भी नजदीक है और जुग्गियो के तोड़े जाने का असर वहां रह रहे छात्रों की बोर्ड की परीक्षा पर भी पड़ेगा जोकि किसी भी भारतीय के शिक्षा के अधिकार का उलंघन होगा। अत: स्थानीय लोगो की मांग हैं कि प्रशासन झुग्गियों की तोड़ फोड़ करने में किसी भी तरह की जल्दबाजी ना दिखाते हुए उनके लिए कहीं और रहने कि व्यवस्था करे और उन्हें कुछ समय की समय अवधि और दी जाए जिस से उनके स्कूल में पढ़ रहे बच्चो की परीक्षाओं पर इसका असर ना पड़े और उन्हें भी रहें के लिए छत मिल सके।


Related News



Insert title here