Bootstrap Example

क्या आपको अंदाजा है आप कितनी जहरीली हवा में सांस ले रहे है

@Anuj Sharma

करीब 17 लाख की आबादी वाला फरीदाबाद शहर हरियाणा प्रदेश की इंडस्ट्रियल राजधानी के रूप में जाना जाता है। प्रत्येक वर्ष सैकड़ों के संख्या में अलग अलग राज्यो के लोग फरीदाबाद में रोजगार की तलाश में आते है। लेकिन फरीदाबाद शहर जहां एक तरफ बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार उपलब्ध कराता है वहीं दूसरी ओर शहर की जहरीली हवा लोगो को कई खतरनाक बीमारियों भी प्रदान करती है। फरीदाबाद में खराब वायु गुणवत्ता के बारे में चौंकाने वाले आंकड़े बताते हैं कि शहर के लोग सामान्य हवा से 20 गुना अधिक जहरीले हवा में सांस ले रहे हैं। ग्रीनपीस इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, जलवायु में विनाशकारी परिवर्तनों के बढ़ते संकेतों के साथ, फरीदाबाद देश के दूसरे सबसे प्रदूषित शहर की सूची में शुमार किया जाता है। ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन (ओआरएफ) की एक रिपोर्ट के मुताबिक शहर में वायु प्रदूषण में गिरावट कई गतिविधियों के कारण होती है। मोटर वाहनों, औद्योगिक / बिजली संयंत्रों और ईंट भट्ठों , सड़क और भवन निर्माण पर बिना धूल-नियंत्रण के उपाय, किसानों द्वारा पुराली में आग लगाना , प्लास्टिक, रबड़ और सूखे पत्तों, ठोस सफाई, और ठोस कचरे को जलाना, और लगातार बिजली कटौती के कारण डीजल जनरेटर सेट का उपयोग शहर के बढ़ते प्रदूषण स्तर पर प्रभाव डालने वाले कुछ उदाहरण हैं। मौजूदा प्रदूषण स्तर की बात करे तो आज के दिन फरीदाबाद शहर का प्रदूषण स्तर 317 से भी अधिक है जो समान्य से 25 गुना अधिक है और प्रदूषण का ये स्तर सांस के मरीजों के लिए जानलेवा साबित हो सकता है। शहर की अन्य समस्याओं के समरूप ये समस्या भी उतनी ही गंभीर है जितनी बिजली और पानी जैसे अन्य मूल समस्याएं। आवश्यकता है कि प्रशासन जल्द से जल्द संज्ञान लेकर इस समस्या की गंभीरता को समझे ओर इसका जल्द से जल्द कोई समाधान निकाले।


Related News



Insert title here