Bootstrap Example

फरीदाबाद में भी दिखा देशव्यापी हड़ताल का असर: अपनी मांगों को लेकर सड़क पर उतरे कर्मचारी

@Deepika gaur

हरियाणा सरकार के खिलाफ नगर पालिका कर्मचारी व्यापार संघ द्वारा बुधवार को देशव्यापी हड़ताल का असर फरीदाबाद में भी दिखाई दिया  । पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार भारी बारिश के बावजूद भी कर्मचारी सुबह 7 बजे से बीके चौक पर आकार जमा ​हो गये। बीके चौक से नीलम चौक तक सभी क्षेत्र के कर्मचारी सड़कों पर उतरकर नारे लगााते हुए नजर आये.केन्द्रीय ट्रेड यूनियनों के आह्वान पर आज हुई राष्ट्रव्यापी हड़ताल में फरीदाबाद शहर के विभिन्न सरकारी, अर्ध सरकारी,बोर्डों, निगमों, बैंकों,रोडवेज, टूरिज्म, स्वास्थ्य सेवाएं, आंगनवाड़ी वर्कर, आशा वर्कर, मिडे-डे-मील, हुडा विभाग सहित व अन्य सरकारी संस्थानों के लगभग 30 हजार कर्मचारी हड़ताल पर रहे। इस दौरान केन्द्र सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ कर्मचारियों ने जमकर नारेबाजी की।
 सडको पर जमा हुए ये लोग पालिका परिषदों में निगमों में कार्यरत सभी अनुबंधित आधार ठेका प्रथा दैनिक वेतन भोगी पार्ट टाइम कर्मचारियों पक्का करने न्यूनतम वेतन 21 हजार करने संघ व सरकार के बीच 30 अगस्त 2019 को हुए समझौते के अनुसार 24 मई 2018 को ड्यूटी पर होने की शर्त के स्थान पर 31 अगस्त 2019 के आ जाए 
सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेश के वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री ने दावा करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार के धमकी भरे पत्र और पुलिस प्रशासन के भारी दबाव के बावजूद
भी फरीदाबाद के लगभग 30 हजार से ज्यादा कर्मचारी एवं मजदूर हड़ताल पर रहे। राष्ट्रव्यापी हड़ताल का व्यापक असर सरकारी कार्यालयों, स्कूलों, निगम बोर्ड कॉरपोरेशंस, स्वास्थ जन स्वास्थ, ईरीकेशन,बिजली, हुड्डा विभाग, आशा वर्कर, आंगनवाड़ी, आंगनवाड़ी, मिड डे मील, ग्रामीण सफाई, कर्मचारियों नगर निगम कर्मचारियों सहित हजारों कर्मचारी रहे हड़ताल पर
कर्मचारियों ने सुबह ही अपने-अपने कार्यालयों को ताले जड़ दिए और सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की वहीं रोडवेज पर हरियाणा सरकार और पुलिस प्रशासन द्वारा तानाशाही और
जबरन तरीके से बसें चलाने को लेकर रोडवेज यूनियन व सर्व कर्मचारी संघ के नेताओं के बीच
तीखी झड़पें हुई। पुलिस प्रशासन ने जबरन तरीके से बसें चलाने का पूरा प्रयास किया सभी विभागों के कर्मचारी सीआईटीयू ट्रेड यूनियनों के नेताओं एवं कर्मचारियों ने नगर निगम मुख्यालय पर जमा होकर जोरदार विशाल विरोध सभा की तथा इसके बाद बीके चौक से नीलम चौक तक केंद्र एवं राज्य सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन का नेतृत्व सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के वरिष्ठ उपप्रधान नरेश कुमार शास्त्री, सीआईटीयू की प्रधान सुरेखा,
सीटू के जिला प्रधान नरेंद्र पराशर, सर्व कर्मचारी संघ के पूर्व संगठनकर्ता विरेंद्र सिंह डंगवाल, सकसं के जिला प्रधान अशोक कुमार, बिजली विभाग के नेता शब्बीर खान, सतपाल नरवत,
करतार सिंह, टूरिज्म के नेता दिगम्बर डागर, सुभाष शर्मा,युद्धवीर सिंह खत्री, नगरपालिका
कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य महासचिव सुनील चिंडालिया,नगर निगम फेडरेशन के प्रधान
रमेश जागलान, महासचिव महेंद्र चौटाला, नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के जिला प्रधान
गुरचरण खाण्डिया, सचिव नानक चंद खैरालिया, हुड्डा वर्कर यूनियन 550 के नेता दिनेश, नरेश कुमार आंगनवाड़ी की नेता देवेन्द्री शर्मा, आशा वर्कर की नेता सुधा, सुशीला, शिक्षा विभाग से भीम सिंह,सेवानिवृत कर्मचारियों के नेता यू एम खान आदि ने किया।


Related News



Insert title here