Bootstrap Example

यह क्रिसमस इनका भी :खुशिओंं का कोई मोल नही

@Deepika Gaur


भगवान यीशु के पुत्र यीशु मसीह के जन्म को याद करने के लिए 25 दिसंबर को दुनिया भर में क्रिसमस मनाया जाता है।
क्रिसमस का त्यौहार वह समय होता है जब परिवार, दोस्त और रिश्तेदार एक साथ आते हैं और पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। सांता क्लॉज से मिलने वाले उपहारों के कारण बच्चे ज्यादातर उत्साहित होते हैं। इसलिए, हम कह सकते हैं कि क्रिसमस के उत्सव में सांता क्लॉज़ नाम का एक पौराणिक व्यक्ति है जो एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
पर दुनिया में ना जाने कितने बच्चे ऐसे है जो जीवन की छोटी छोटी खुशिया से महरूम रहे जाते है पर इन सब बच्चों के लिए समाज के लोग ही सांता क्लॉज बन कर इनको खुशिया देने का जिम्मा लेते है । बडखल फ्लाईओवर के नीचे सचांलित जीवन प्रकास नामक संस्था गरीब और असहाय बच्चो को पढाई के साथ उनको छोटी छोटी खुशिया भी बांट रही है समाज के कुछ लोग इस में अपना सहयोग दे रहे है लोगो ने इस सस्था से जुडे लोगो ने वहा पर बच्चो के साथ क्रिसमस सेलिबेशन किया और उन सभी ने उनको तोहफे दिये केक काटकर बच्चो के साथ ये खुशिया मनाई । इस मामूली सी कोशिश से इन बच्चो के चहरे पर खुशी छा गई । बच्चो के द्वारा बनाई गई सांता क्लॉज की ड्राइंग काफी प्रभावित दिखाई दी । यहा कि टीचर सुधा जी के प्रयास से सहयोग से इन बच्चो अनुशासित जीवन जी रहे है और सभी का प्रयास है कि जिस तरह से ये साल इनके जीवन का हर साल खुशी के साथ मनाये जायें


Related News



Insert title here